Selected:

Jyu Ta Bwanu Cha Garhwali Poetry Book by Anoop Singh Rawat

Rs.150.00 Rs.100.00

-33%

Jyu Ta Bwanu Cha Garhwali Poetry Book by Anoop Singh Rawat

Rs.150.00 Rs.100.00

“ज्यू त ब्वनु च”

ज्यू त ब्वनु च कि

छट्ट छोडि क़ि, चलि जौं

ये परदेश बिटि़, गौं मुलुक

पर क्या कन्न, रोजगार कु

जैका बाना, छोड्यों गौं गुठ्यार

ज्यू त ब्वनु च कि

सट्ट से जौं, ब्वे कि खुचळि मा

सब दुःख विपदों थैं बिसरि

पर क्या कन्न, मी दूर परदेश

अर मेरि ब्वे च, दूर डांडा घार

ज्यू त ब्वनु च कि

झट्ट तोड़ि द्यों, देख्यां सुपिन्यां

मेहनत बि कन्नु छौं लगातार

पर क्य कन्न, फूटीं च किस्मत

झणि कब होला सुपिन्यां साकार

ज्यू त ब्वनु च कि

पट्ट गौळा भेंटि जौं, सुवा थैं

खुद लगीं च भारी तैं कि मिथै

पर क्या कन्न, हम द्वी जणों मा

नौकरी क बान, बिछड़ों की मार

ज्यू त ब्वनु च कि

खट्ट तोड़ि कि, सब बंधन

कखि चलि जौं, दूर धार

पर क्या कन्न, कुटुमदारी कु

यखुली छौं, मी ही द्यखदार

– अनूप सिंह रावत

30 in stock (can be backordered)

Add to Wishlist
  Ask a Question

Description

“ज्यू त ब्वनु च”

ज्यू त ब्वनु च कि

छट्ट छोडि क़ि, चलि जौं

ये परदेश बिटि़, गौं मुलुक

पर क्या कन्न, रोजगार कु

जैका बाना, छोड्यों गौं गुठ्यार

ज्यू त ब्वनु च कि

सट्ट से जौं, ब्वे कि खुचळि मा

सब दुःख विपदों थैं बिसरि

पर क्या कन्न, मी दूर परदेश

अर मेरि ब्वे च, दूर डांडा घार

ज्यू त ब्वनु च कि

झट्ट तोड़ि द्यों, देख्यां सुपिन्यां

मेहनत बि कन्नु छौं लगातार

पर क्य कन्न, फूटीं च किस्मत

झणि कब होला सुपिन्यां साकार

ज्यू त ब्वनु च कि

पट्ट गौळा भेंटि जौं, सुवा थैं

खुद लगीं च भारी तैं कि मिथै

पर क्या कन्न, हम द्वी जणों मा

नौकरी क बान, बिछड़ों की मार

ज्यू त ब्वनु च कि

खट्ट तोड़ि कि, सब बंधन

कखि चलि जौं, दूर धार

पर क्या कन्न, कुटुमदारी कु

यखुली छौं, मी ही द्यखदार

– अनूप सिंह रावत

Additional information

Weight 150 g
Dimensions 22 × 14 × 2 cm
Pcs

1, 2, 3, 4

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.

Close Menu
×
×

Cart