Selected:

Garhwali Gazal Book Pailagun Pokhra by Payash Pokhra

Rs.250.00 Rs.200.00

-20%

Garhwali Gazal Book Pailagun Pokhra by Payash Pokhra

Rs.250.00 Rs.200.00

Garhwali Poetry Book

Title: Pailagun Pokhra

Poet: Payash Pokhra

Publisher: Rawat Digital

ISBN No.: 978-81-940719-4-5

Edition: 2019 (First)

No. of Pages: 144

Cover Page: Shrishti Pokhriyal

Book Designer: Anoop Singh Rawat

Binding:
Perfect (Paperback)


24 in stock

Add to Wishlist
  Ask a Question

Description

श्री पयाश पोखड़ा जी जौं कु असलि नौ विभूति भूषण जोशी छ, वों कि यी गजल की गौछी म एक सौ बीस गजल छन। अर जनु कि पयाश जी अपणि बात म खुद बुनां छन कि वोन हर भाव तैं अपणि गजलों म सजयों छ। जिन्दगी का हर भाव, हर पीड़ा अर सुख, दुख तैं जगा दियीं छ।
अपणि पैलि गजल म पयाश जी लिखदन –

अपणि कचकों तैं कनके लुकौं
अपणा गैरा घौ कनके सुखौं।
आंखा भोरिकि आॅसु पैंछा दे ग्यवा
बता मि त्यारू उधार कनके चुकौं।

मन की पीड़ा अर कचकों तैं भौत भलि धाद लगयीं छ पयाश जी की। अपणि हैंकि गजल अनगिर धर्यां मच्छ्यळा म वो बुलदन-

अनिगिर धर्यां मुच्छ्यळा अभितलक अमलटा छन
ये बामणा का कीसाउंद अभितलक स्यापटा छन।
सच थैं याद नि रखणु प्वड़दु लेाग इन ब्वलदिन,
तभी तक वो भि ब्वलण बच्याणा मा खटखटा छन।

आॅखि खोल, कुछ न बोल गजल का माध्यम से पयाश जी भौत कुछ बिगैं दिदन अर वो अपणि कलम का माध्यम से बुल्दन कि-

आॅखि खोल, कुछ न बोल, द्यखणा खुणै अभि छैंच छक्वै,
पाटि घुट्यो,ब्वळख्या उठो, ल्यखणा खुणै अभि छैंच छक्वै।
रौला-बौला गाड-गदनि समोदर भ्यटेणा खुणै जाणि रदिंन,
तू आॅखि मूंज, आॅंसु फूंज, बवगणा खुणै अभि छैंच छक्वै।।

अपणि एक हैंकि गजल म पयाश जी अपणु गैळ्या तैं याद कर्दन अर वै खुणि बुल्दन कि हे मेरा गैळ्या ऐ जा। अपणा घर, गौं की सार खबर अर हालातों परैं नजर डाळि जा। ल्या एक बानगी आप खुद देखा-

ऐ जा गैळ्या गाॅंवा की खबर सार ल्ही जैई
गौं की स्यवा सौंळि अर नमस्कार ल्ही जैई।
फड़कीं फैड़ि छटकीं छज्जा तिड़कीं तिबरि,
आॅंख्यूं मा अपणि कूड़ि कु खंद्वार ल्ही जैई।।

Additional information

Weight 150 g
Dimensions 22 × 14 × 4 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.

Close Menu
×
×

Cart